भागलपुर में जुटेंगे देश भर के ख़ानक़ाहों व दरगाहों के सज्जादानशि और गद्दीनशीन

0
cyz

बिहार के रेशमी शहर भागलपुर स्थित “पीर डुमरिया शाह रहमततुल्लाह अलैह” के खानकाह से हिंदुस्तान में एक बार फिर से फैलाये जायेंगे मुहब्बत के पैगाम,

सैयद शाह इनायत हुसैन वक्फ़-159 की ओर से कराये जा रहे हैं दो दिवसीय देशव्यापी सूफी-संत सम्मेलन, भागलपुर स्थित शाह मार्केट के हसन मानीं ने उठाया है इसका बीड़ा,

उनके पुत्र हसन फ़करे आलम ने लगाया जोर, मुल्क के पैमाने पर फैलाये जायेंगे प्रेम और सद्भावना के पैगाम,

शिरकत करने वाले हस्तियों को मोमेंटो प्रदान कर किया जायेगा सम्मानित, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री रविशंकर को भी शिरकत करने के लिए भेजा न्यौता

सैयदना पीर डुमरिया शाह रहमततुल्लाह अलैह
भागलपुर स्थित ” सैयदना पीर डुमरिया शाह रहमततुल्लाह अलैह ” के “खानकाह” से तौहीद का और आपसी प्रेम व सद्भावना का पैगाम देश भर में फ़ैलाने की जोरदार तैयारी की जा रही है

सीमांचल / भागलपुर ( अशोक / विशाल )।

काफी पुराने जमाने से भारत में देश भर के ख़ानक़ाहों से बरसायी जाने वाली मुहब्बतों की बारिश को दोबारा जिंदा करने की जरूरतों को महसूसते हुए भारत भर में रेशमी शहर के नाम से जानें जाने वाले बिहार के भागलपुर स्थित

” सैयदना पीर डुमरिया शाह रहमततुल्लाह अलैह ” के  “खानकाह” से तौहीद का और आपसी प्रेम व सद्भावना का पैगाम देश भर में फ़ैलाने की जोरदार तैयारी की जा रही है ,

जिसके तहत भागलपुर स्थित उक्त खानकाह ” सैयद शाह इनायत हुसैन वक़्फ़ (159) ” के बैनर तले ” सुफिज्म और राष्ट्र निर्माण में सूफ़ी-संतों की भूमिका ” विषयक दो दिवसीय सूफियों-संतों का सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है।

उक्त अहम सम्मेलन का आयोजन 27 और 28 फरबरी को भागलपुर स्थित “शाह मंजिल” खलीफा बाग़ में किया जायेगा।

जिसमें देशभर के सज्जादानशीन “खानकाह पीर डुमरिया शाह” शाह मार्केट , भागलपुर तशरीफ़ ला रहे हैं।

उपरोक्त जानकारी देते हुए ” पीर डुमरिया ” के नायब सज्जादानशीन ” हसन मानीं ” के पुत्र हसन फ़करे आलम ने बताया कि उनके बालिद हसन मानीं की कोशिशों की बदौलत आयोजित होने जा रहे

” देश भर के सूफियों-संतों के सम्मेलन ” में भाग लेने के लिए देश के कोने-कोने से 100 से ऊपर की संख्या में सज्जादानशिनान और गद्दीनशीनों का जमावड़ा होगा और उक्त सम्मेलन के जरिये देश भर में “मुहब्बत  का पैगाम” फैलाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि इस देश का इतिहास गवाह है कि देश के ख़ानक़ाहों के द्वारा हरेक बुरे बक्तों में अच्छे अच्छे काम किये गए हैं और गरीब-गुरबों व लाचारों को मदद किये गए हैं।

उन्होंने बताया कि ” हसन मानीं ” साहब को इस तरह के आयोजन के लिए हौंसला अफजाई करने का काम यूं तो देश भर के मशहूर ख़ानक़ाहों , गद्दीनशीनों व सज्जादानशीनों के द्वारा किया गया है

लेकिन गद्दीनशीनान व सज्जादानशिनान अजमेर शरीफ , निजामुद्दीन , बिहार शरीफ़ के खानकाह फिरदौशिया सहित मित्तनघाट की खानकाह के शमीम मुल्लमी साहब और अजमेर शरीफ दरगाह शरीफ के सदर सरबर चिश्ती साहब ने जो गम्भीर हौंसला आफजाई किया तो

भागलपुर स्थित ” पीर डुमरिया ” के ” सैयद शाह इनायत हुसैन वक्फ़(159)को देश हित में इत्तेहाद और इत्तेफाक के लिए कूबत हांसिल हुई और उक्त सम्मेलन की तैयारी जोरदार तरीके से शुरू की गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.