बिहार के लिए गौरवशाली दिन साबित हुआ मंगलवार 9 फरबरी

0
cyz

एक ओर बिहार के पूर्व आईएएस लाल डॉ एम ए इब्राहिमी द्वारा लिखित पुस्तक “द ब्यूटीफूल वर्ल्ड” का महामहिम उपराष्ट्रपति ने किया विमोचन

तो दूसरी ओर राजनीतिक पेंचों से उबरे बिहार में मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार

डॉ-एम-ए-इब्राहिमी-पुस्तक-द-ब्यूटीफूल-वर्ल्ड
फोटो – महामहिम भारत के उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू ने 9 फरवरी को शाम 5 बजे वीपी हाउस, मौलाना आज़ाद रोड पर ‘द ब्यूटीफुल वर्ल्ड: ट्रावेलॉग ऑफ़ डॉ। एम ए इब्राहिमी’ पुस्तक का विमोचन किया।

बिहार मंथन डेस्क ।

बिहार वासियों के लिए बड़े गर्व से भरा अविष्मरणीय ऐतिहासिक दिन के रूप में मंगलवार 9 फरबरी को याद रखा जाएगा कि एक ओर बिहार की एनडीए गठबंधन की सरकार में फंसे मंत्रिमंडल विस्तार के पेंच सुलझ कर मंत्रीमंडल विस्तार का दिन साबित हुआ

तो दूसरी ओर इसी बिहार के लाल सेवानिवृत्त आइएएस, बिहार के पूर्व मुख्य सचिव एवं भागलपुर विश्विद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ एम ए इम्ब्राहिमी के द्वारा 30 देशों की यात्रा वृतांत के अनुभवों पर लिखित पुस्तक ” द ब्यूटीफूल वर्ल्ड ” का विमोचन भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू के हाथों सम्पन्न हुआ।

भारत के उप राष्ट्रपति निवास के प्रांगण में आयोजित एक सादे समारोह में पूर्व आईएएस अफसर डॉ एम ए इब्राहिमी के हाथों लिखित पुस्तक ” द ब्यूटीफूल वर्ल्ड ” का विमोचन करते हुए भारत के उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू ने कहा कि विभिन्न हस्तियों की यात्राओं और बैठकों से जो अनुभव समृद्ध होती हैं और उस क्रम में विभिन्न संस्कृतियों को बेहतर तरीके से समझने में जो मदद मिलती हैं और भारत के अन्दर और बाहर के दौरों से जो सीखने के अवसर प्राप्त होते हैं वह मूल रूप से ऐतिहासिक धरोहर हो जाते हैं।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि ” उन्होंने भी भारत के अंदर और बाहर का दौरा करके बहुत कुछ सीखा है “।

माननीय उपराष्ट्रपति ने मंगलवार 9 फरवरी को डॉ एम ए इब्राहिमी द्वारा लिखित पुस्तक का विमोचन करते समय उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों के साथ बातचीत करते हुए टिप्पणी किया कि एक सेवा निवृत्त आइएएस अधिकारी और बिहार के पूर्व मुख्य सचिव के रूप में डॉ एम ए इब्राहिमी द्वारा लिखित पुस्तक एक ऐसा यात्रा वृतांत है जिसमें दुनिया भर के 30 से अधिक देशों की उनकी यात्रा के विवरण का वर्णन है।

भारत के महामहिम उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने उक्त पुस्तक के रूप में अपनी यात्राओं का वर्णन साझा करने के लिए बिहार के पूर्व आईएएस अफसर एम ए इब्राहिमी की भरपूर सराहना की और आशा व्यक्त किया कि यह पुस्तक देश भर के पाठकों को विभिन्न क्षेत्रों और संस्कृतियों के बारे में शिक्षित करेगा।

बिहार को गौरवान्वित करने वाले उक्त क्षण पर हरानन्द प्रकाशन के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र कुमार , श्री अशोक गोसाईं , हरानन्द प्रकाशन के प्रकाशक , डॉ असमी रजा अर्थ शास्त्र के प्रोफेसर ,और वरिष्ठ पत्रकार सुश्री मारिया शकील कार्यक्रम में शामिल होने वाले प्रमुख हस्ती थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.