ठाकुरगंज-के-राजद-विधायक-सऊद-आलम

ठाकुरगंज के राजद विधायक सऊद आलम का दावा

ठाकुरगंज-के-राजद-विधायक-सऊद-आलम
फोटो – ठाकुरगंज के राजद विधायक सऊद आलम
  • बिहार में जबरन बनायी जा रही एनडीए गठबंधन की सरकार का महीने भर के अन्दर गिरना तय
  • कहा–लोकतंत्र की खुल्लमखुल्ला उड़ाई गई धज्जियां
  • फिर एक क्रांति के मुहाने पर बिहार

सीमांचल ( अशोक कुमार )।

बहुमत की ओर अग्रसर राजद-कांग्रेस महागठबंधन की राह को प्रशासनिक व राजनैतिक तिकड़मबाजी के बूते वाधित करके जबरन सरकार बनाने गयी बिहार एनडीए की सरकार को ज्यादा समय तक सत्ता में टिकना सम्भव नहीं होगा और इस सरकार को मौंका मिलते ही महागठबंधन की राजद-कांग्रेस के द्वारा पटकनी दे दिया जायेगा।

सीमांचल के किशनगंज जिले के ठाकुरगंज विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित राजद विधायक सऊद आलम ने इस प्रकार का दावा इस संवाददाता के साथ फोन पर किये गए बातचीत के दौरान किये।

उन्होंने कहा कि अभी तक 20 सीटों पर होने वाले रिकॉउंटिंग की प्रक्रिया लंबित है , जबकि , उक्त प्रक्रिया का आदेश भी जारी है।

उन्होंने कहा कि बिहार में सरेआम गन्दी राजनीति की शुरुआत की गई है और चुनाव जैसे सबसे बड़े राजनीतिक लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई गई है जो भविष्य में बिहार में बड़ी क्रांति को जन्म दे सकता है।

ठाकुरगंज के राजद विधायक सऊद आलम पूर्व से ही किसी परिचय के मोहताज नहीं रहे हैं।
विधायक सऊद आलम किशनगंज के मरहूम कांग्रेस सांसद मौलाना असरारूल हक़ क़ासमी के पुत्र हैं और अपने जीवन का पहला चुनाव इस बार राजद की टिकट पर लड़े और पहली बार में ही जीत भी दर्ज कराया।

जबकि उनके चुनाव लड़ते समय सबसे बड़ी उनकी परेशानी थी कि क्षेत्र के लोगों ने उनके चेहरे तक पूर्व से नहीं देख रखा था और वोटरों में सिर्फ उन्हें देखने की ललक रही थी जो उन्होंने येनकेन प्रकारेण जहां तक हो सका , जनता की उक्त ललक को पूरा किया।

राजद विधायक सऊद आलम ने बताया कि इस बार के विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ दल ने जमकर लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई।

उन्होंने कहा कि वोटों की गिनती में यूं तो भयंकर गड़बड़ी सत्तापक्ष की ओर से की गई है लेकिन अगर पोस्टल बैलेटों की भी दोबारा गणना की जाएगी तो राजद को बहुमत प्राप्त होने में कोई देर नहीं लगेगा।

उन्होंने कहा कि बिहार में जबरन बनायी जा रही एनडीए गठबंधन की सरकार का महीने भर के अंदर गिरना तय है।