राहुल-गाँधी-ओवैसी-मोदीहैदराबाद में सीमांचल के विजेता एमआइएम विधायकगणBJP के विजय कुमार खेमकाओवैसी से हिगी किस पार्टी को नुक्सानप्रचार के अंतिम दिन प्रत्याशियों ने झोंकी ताकततेजस्वी-यादव-मदन-मोहन-अख्तरुल-इमानठाकुरगंज-के-राजद-विधायक-सऊद-आलम
गुलशन-मौलाना-चतुर्वेदी-शाहनवाज

दैनिक ” बिहार मंथन ” की आक्रामक खबर का एमआइएम के आलाकमानों पर हुआ असर

 गुलशन-मौलाना-चतुर्वेदी-शाहनवाज
फोटो – जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र से मुर्शिद आलम की उम्मीदवारी रदद्, अब गुलशन , मौलाना चतुर्वेदी या विधायक शाहनवाज होंगे एम आई एम उम्मीदवार
  • जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र से मुर्शिद आलम की उम्मीदवारी की टिकट को किया रदद्
  • अब किसे बनाया जा सकता है उम्मीदवार , चल रहा है मंथन
  • गुलशन , मौलाना चतुर्वेदी या तस्लीमुद्दीन पुत्र शाहनवाज में से कोई एक के गले पड़ सकती है उम्मीदवारी

सीमांचल / जोकीहाट ( विशाल कुमार ) ।

” दैनिक बिहार मंथन ” की खबर के व्यापक असर के आलोक में एआईएमआईएम के आलाकमानों को  अन्ततः जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र से दी गयी मुर्शिद आलम की उम्मीदवारी को रदद् करना पड़ा और उस उम्मीदवारी को एमआइएम के संगठन में पूर्व से रहे गुलशन आरा या मौलाना चतुर्वेदी के गले में पार्टी डालेगी , यह खुलासा नहीं हो पा रहा है।

मुर्शिद की उम्मीदवारी रदद् होने की खबर सुनकर जोकीहाट से गुलशन और मौलाना चतुर्वेदी किशनगंज पहुंचे थे और देर रात में किशनगंज से दोनो खाली हाथ वापिस जोकीहाट चले आये , क्योंकि , टिकट पर कोई खुलासा नहीं हो पाया।

प्राप्त खबर के अनुसार , इस बीच यह खबर अब जंगल मे लगी आग की तरह पूरे जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र में एमआइएम के समर्थकों , कार्यकर्ताओं व कर्ताधर्ताओं में फैल गयी और जोकीहाट स्थित एमआइएम के जिन नेताओं ने जोकीहाट क्षेत्र से टिकट के लिए दावेदारी पेश कर रखें थे , वह सभी महसूस करते हुए दीख रहे हैं कि यह उनकी वास्तविक जीत चुनाव से पहले ही हो गई है।

स्मरणीय है कि चुनावी घोषणा के साथ ही जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र से एमआइएम की उम्मीदवारी पाने के लिए जोकीहाट के दो सशक्त दावेदार एमआइएम के आलाकमानों के सामने आ खड़े हुए थे।

जिसमें से एक जोकीहाट की जिलापार्षद और एमआइएम की अररिया जिला महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष गुलशन आरा रहीं और दूसरे जोकीहाट प्रखंड एमआइएम के प्रखंड अध्यक्ष मौलाना सालिम अब्दुल्ला चतुर्वेदी रहे थे।

बताया जाता है कि एमआइएम का बिहार में चुनावी संचालन के लिए हैदराबाद से आये केंद्रीय एमआइएम नेता सह बिहार प्रभारी माज़िद हसन , बिहार प्रदेश एमआइएम के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरूल ईमान लगातार पूछने पर एक ही बात यह कहते हुए आ रहे थे कि जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र से इन्हीं दोनों दावेदारों में से किसी एक को ही एमआइएम की उम्मीदवारी हांसिल करायी जाएगी।

लेकिन , आखरी समय में जब यह बात प्रकाश में आयी कि पार्टी संगठन से बाहर के एक नेता मुर्शिद आलम को एमआइएम का टिकट जोकीहाट से दे दिया गया तो जोकीहाट क्षेत्र के सम्पूर्ण एमआइएम महकमे में विरोध की आग भड़क उठी और एमआइएम संगठन के लोगों की विरोध सभाएं और बैठकों की जहां तहां झड़ी लग गई।

इस अवसर को ” दैनिक बिहार मंथन ” ने बेबसाईट और पोर्टल न्यूज के रूप में दिन भर लगातार परोसना शुरू किया ।

लिहाजा खबरों की उक्त चिनगारी व आग की लपटों ने एमआइएम के आलाकमानों के दिमाग को त्वरित गति से ठिकाने पर लाने का काम कर दिया और उसके परिणामस्वरूप ही दिन बीतने के साथ ही जोकीहाट की जनता को नई खबर मिल गई कि एमआइएम के द्वारा जोकीहाट क्षेत्र से मुर्शिद आलम को दिये गए टिकट को एमआइएम के आलाकमानों ने रदद् कर दिया है।

जिस कारण जोकीहाट क्षेत्र के एमआइएम से नाराज हुए लोग फिर से एमआइएम की पटरी पर रेंगने के लिए खुशी खुशी वापस लौट आने लगे हैं।

इस बीच एक नयी खबर है कि बहुत ज्यादा सम्भावना है कि मुर्शिद से वापिस छीनी गई एमआइएम के टिकट जोकीहाट के सीटिंग विधायक व स्व० तस्लीमुद्दीन के छोटे पुत्र शाहनवाज आलम को दे दिया जाय।

बताया जाता है कि शाहनवाज के नाम पर एमआइएम के लोग ऐतराज नहीं करेंगे।