टिकट-की-खातिर-उठापटकसिमांचल-में-राजनेताओं-की-श्रृंखलाबद्ध-मौतराजकुमार-चौधरी-रघुवंश-बाबु-को-श्रधांजली-देते
शक्ति-मल्लिक

शक्ति मल्लिक हत्याकांड का पूर्णिया पुलिस ने किया खुलासा, तेजस्वी यादव को फंसाने की साज़िशें हुई नाकाम

राजद नेता राजकुमार चौधरी ने पूर्णिया पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा के नेतृत्व वाली पूर्णिया पुलिस की निष्पक्ष कार्रवाई के प्रति जताया आभार, कहा इसी के साथ बिहार पुलिस के प्रति नया विश्वास जगा कि निर्दोषों को नहीं फंसाती है पुलिस

शक्ति-मल्लिक
फोटो – तेजस्वी यादव की छवि को धूमिल करने का प्रयास करने वाले जिस शक्ति मल्लिक की हत्या शक्ति मल्लिक के कर्जखोर गुर्गों ने ही गोली मारकर कर दी थी

राजद के पूर्णिया सदर से भावी उम्मीदवार राजकुमार चौधरी ने कहा सादगी के अवतार बनकर पूर्णिया के पुलिस अधीक्षक ने हरेक कांडों का सही अनुसंधान कर वास्तविक अपराधी को पकड़ने का ही काम किया न कि अन्यों की भांति प्रचार मीडिया के बल पर नाम कमाने का झूठा प्रयास किया

सीमांचल / पूर्णिया ( विशाल / विकास ) ।

पूर्णिया के पूर्व राजद दलित नेता के रूप में राजद सुप्रीमो तेजस्वी यादव की छवि को धूमिल करने का प्रयास करने वाले जिस शक्ति मल्लिक की हत्या शक्ति मल्लिक के कर्जखोर गुर्गों ने ही गोली मारकर कर दी थी ,

उस शक्ति मल्लिक हत्याकांड का खुलासा महज़ 72 घन्टे के अंदर पूर्णिया के पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा की पूर्णिया पुलिस टीम ने करते हुए हत्याकांड में संलिप्त अपराधियों को दबोच लिया और गिरफ्तार अपराधियों के मुंह से ही यह सच्चाई उपस्थित प्रेस मीडिया के समक्ष उगलवा दिया कि उक्त घटना को राजनीतिज्ञों के द्वारा राजनैतिक हत्या बनाने की साजिश जो की गई थी

वह झूठी मनगढ़ंत थी , किसी भी स्थिति में उक्त घटना का कोई सम्वन्ध राजद सुप्रीमो तेजस्वी यादव से नहीं था और उन्होंने उसकी हत्या नहीं वल्कि कलियुगी रावण का वधकर उसके आतंक से पूर्णिया के कई गरीब परिवार को बचा लिया है।

पूर्णिया पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा के नेतृत्व वाली पूर्णिया पुलिस के द्वारा महज 72 घण्टे में मामले का खुलासा होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बिहार प्रदेश राजद व्यवसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवम पूर्णिया सीट के भावी राजद प्रत्याशी राजकुमार चौधरी ने पुलिस अधीक्षक सहित सम्पूर्ण पूर्णिया पुलिस का आभार जताया है ।

महागठबंधन के पूर्णिया नेता राजकुमार चौधरी ने कहा कि जिस तरह से सुनियोजित तरीके से उक्त मामले में राजद सुप्रीमो तेजस्वी यादव की छवि खराब करने की राजनैतिक कोशिशें की गई थी ,

उसे न सिर्फ पूर्णिया पुलिस ने नाकाम किया , बल्कि , पूर्णिया की पुलिस की इस बेबाक निष्पक्ष कार्रवाई व अनुसंधान से यह भी खुलासा हो गया कि बिहार की पुलिस किसी को नाहक न परेशान करती है और न ही किसी को नाहक फंसाती है।

उन्होंने स्पष्ट कहा कि बिहार में विभिन्न बैकिंग पर झूठी शानें बघारकर कई पुलिस अधीक्षक चर्चित होकर गये लेकिन विना कोई फिल्मी स्टाइल दिखाये और विना फोटो छपवाने की चाहत रखने वाले सादगीपूर्ण तरीके से सही अनुसंधान के बदौलत सही अपराधी के गिरेवान पकड़ने वाले एकमात्र पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ही नजर आए ,

जिनके लिए कठिन से कठिन अपराध कांडों का अनुसंधान कोई खास मायने नहीं रखता है और अभी तक राज्यभर में ये पहले अधिकारी रहें जिन्होंने चटपट में दूध का दूध और पानी का पानी साबित करने वाला काम किया।

उन्होंने पूर्णिया पुलिस को कोटि कोटि धन्यवाद किया ।