टिकट-की-खातिर-उठापटकसिमांचल-में-राजनेताओं-की-श्रृंखलाबद्ध-मौतराजकुमार-चौधरी-रघुवंश-बाबु-को-श्रधांजली-देते
गरीबों की सेवा से बड़ी कोई सेवा नहीं- एल्सा फातमा

गरीबों की सेवा से बड़ी कोई सेवा नहीं- एल्सा फातमा

गरीबों की सेवा से बड़ी कोई सेवा नहीं- एल्सा फातमा

फुलवारीशरीफ (प्रवेज आलम)

मंगलवार को आरोहनम संस्था के प्रथम वर्षगांठ पर  संस्था के लोगो में खुशीयों कि लहर दौड़ उठी। इस खुशी के मौके पर संस्थापक  एल्सा फातमा नें कहा कि गरीबों की सेवा करने से पुण्य मिलता है और साथ ही साथ गरीबों की सेवा से बड़ी कोई सेवा नहीं,

क्योंकि गरीबों की सेवा करने का मौका तो सिर्फ सौभाग्य वालों को ही मिलता है, इंसान तब सोता है जब पेट भरा होता है – भूखे पेट नींद नहीं आती, उनका कहना है कि इस्लाम में बताया गया है कि गरीबों की मदद करने का सबाब बहुत ज्यादा है,

वही अध्यक्ष साईप्रिया सिंह तथा उप संस्थापक सलमान अमन खान नें भी खुशी जाहिर करते हुए सफीना बाल गृह अनाथ आश्रम जाकर केक काटा ओर स्लम एरिया में जाकर गरीबो के बीच खुशियां बाटी।

अध्यक्ष समेत संस्था के सदस्य ने लोगों की मदद की उन्हें जरूरत के सामान का वितरण किया साथ ही साथ नव वर्ष का कैंलेंडर तथा अरोहनम टाईम्स मैगजिन लांच किया गया और एक पेड़ लगाकर इस खुशी के पल को यादगार बना दिया।