टिकट-की-खातिर-उठापटकसिमांचल-में-राजनेताओं-की-श्रृंखलाबद्ध-मौतराजकुमार-चौधरी-रघुवंश-बाबु-को-श्रधांजली-देते
राजकुमार-चौधरी

सच हुई चुनावी भविष्यवाणी, पूर्णिया सीट गई राजद के पाले में

सीट शेयरिंग के फैसले के तहत भाजपा सीटिंग सीटों पर राजद चुनाव लड़ेगी और जदयू की सीटिंग सीटों पर लड़ेगी कांग्रेस

राजकुमार-चौधरी-का-जनसम्पर्क
फोटो – राजकुमार चौधरी का जनसम्पर्क
  • राजकुमार चौधरी के बूते पूर्णिया में चुनावी बैतरणी पार लगाने की राजद ने अपनायी रणनीति
  • भाजपाइयों की उड़ेगी नींद

सीमांचल / पूर्णिया ( विशाल / पिन्टू ) ।

पूर्णिया : अन्ततः राजद ने पूर्णिया सदर की विधानसभा सीट को अपने पाले में घसीट लिया और उम्मीद के मुताबिक राजद के पूर्णिया उम्मीदवार के रूप में जनता के बीच जनसम्पर्क बढ़ाने का संकेत राजद सह वैश्य समाज के प्रदेश नेता राजकुमार चौधरी को दे दिया।

लिहाजा , पूर्णिया सदर विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी के रूप में राजद नेता राजकुमार चौधरी ने व्यापक जनसम्पर्क अभियान शुरू कर दिया है ।

विश्वस्त सूत्रों के अनुसार , महागठबंधन के सीट शेयरिंग के जो झमेले राजद और कांग्रेस के बीच चल रहे थे ,

उसे इस फ़ैसले पर निपटाया गया कि बिहार में जो भी भाजपा की सीटिंग सीटें हैं वहां से सिर्फ राजद के उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे और बिहार में जो भी सीटें जदयू की सीटिंग सीट हैं , वहां से सिर्फ कांग्रेस के ही उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे ।

जाहिर सी बात है कि इस खबर से विल्कुल साफ और स्पष्ट हो गया है कि भाजपा सीटिंग वाली पूर्णिया विधानसभा क्षेत्र की सीट से इस बार का विधानसभा चुनाव राजद ही लड़ेगी और उसके साथ ही यह भी स्पष्ट हुआ है कि तब राजद के पूर्णिया सीट के उम्मीदवार राजकुमार चौधरी ही होंगे ।

बताया जाता है कि इसी खबर के बाद से राजकुमार चौधरी ने पूर्णिया सदर विधानसभा क्षेत्र के बूथ स्तर के राजद कार्यकर्ताओं की सशक्त टीम को सक्रिय किया और दूसरी ओर गरीब गुरबों की अपनी परम्परागत सहायता का दायरा व्यापक स्तर पर बढ़ा दिया।

बीते दिनों भी राजद प्रत्याशी राजकुमार चौधरी की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय भोला पासवान शास्त्री के जन्मदिवस पर आयोजित राजकीय समारोह के बीच राजद की टीम के साथ रंजीत चौधरी ने गरीब परिवार के पढ़ने वाले बच्चों के बीच कॉपी , किताबें वितरित किया ।

वहीं दूसरी ओर इनकी राजद टीम ने अनबरत बर्षा के कारण जल जमाव के शिकार लोगों के परेशानी की सुधि ली ।

भाजपाइयों की उड़ेगी नींद

पूर्णिया पहले सी.पी.एम. के कब्जा वाले क्षेत्र के रूप में ख्यात रहा था लेकिन बाद के वर्षों से पूर्णिया की सीट भाजपा के कब्जे में रहती चली आयी ।

गैर भाजपा राजनीतिक दलों की लाख कोशिशों के बाबजूद पूर्णिया सीट पर भाजपा की शिकस्ती सुनिश्चित करने में कोई सफलता हाथ ही नहीं आ रही थी।

लेकिन , इस बार लंबे अंतराल के बाद राजद ने वैश्य समाज के उभरते प्रभावशाली नेता राजकुमार चौधरी के बूते ही पूर्णिया की चुनावी बैतरनी को पार लगाने की रणनीति अपनाया तो कई टर्म से पूर्णिया सीट पर काबिज़ रहती आ रही भाजपा की अब नींद उड़ने की स्थिति पैदा हो सकती है।