टिकट-की-खातिर-उठापटकसिमांचल-में-राजनेताओं-की-श्रृंखलाबद्ध-मौतराजकुमार-चौधरी-रघुवंश-बाबु-को-श्रधांजली-देते
वेलफेयर-एसोसिएट-क्लब-बिहार-के-चेयरमैन-अनन्त-कुमार-पोद्दार

वेलफेयर एसोसिएट क्लब के चेयरमैन अनन्त कुमार पोद्दार ने जनता को झंकझोरा

कोरोना से बचाव के लिए वेलफेयर एसोसिएट क्लब बिहार के चेयरमैन अनन्त कुमार पोद्दार ने बेगूसराय से सीमांचल पूर्णिया प्रमंडल तक की जनता को झंकझोरा

वेलफेयर-एसोसिएट-क्लब-बिहार-के-चेयरमैन-अनन्त-कुमार-पोद्दार
फोटो – वेलफेयर एसोसिएट क्लब बिहार के चेयरमैन अनन्त कुमार पोद्दार

सीमांचल ( अशोक / विशाल )

बिहार में छूत की महामारी कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप  से नागरिक जन जीवन पर उत्पन्न खतरे के मद्देनजर बचाव की दिशा में जितनी सक्रियता सरकार की दीख रही है

उतनी ही सक्रियता निभाने में विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओं की टीम भी लग गई है। जो आम आदमी की जिंदगी की सुरक्षा के लिए मास्क की अनिवार्यता और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर प्रचार प्रसार में जमकर लगी हुई है।

इस क्रम में बढ़ते कोरोना संक्रमण के आतंक के बीच बेगूसराय से संचालित एक बिहार स्तरीय स्वयं सेवी संस्था ” वेलफेयर एसोसिएट क्लब बिहार ” की टीम ने बलिया ( बेगूसराय ) से लेकर सीमांचल के पूर्णिया , कटिहार , किशनगंज तक अपने संदेश प्रसारित कर आम आवाम को सचेत किया है कि वर्तमान महामारी की त्रासदी के बीच पूरी तरह से सुरक्षित और आपसी व भीड़ भाड़ के सम्पर्क से दूरियां बनाये रखें।

वेलफेयर एसोसिएट क्लब बिहार के चेयरमैन अनन्त कुमार पोद्दार ने इस संदर्भ में प्रसारित अपने संदेश में कहा है कि इस मद में आम जनता के द्वारा की जा रही लापरवाही के कारण संक्रमण के प्रसार को बल मिल रहा है जो देश  , राज्य , समाज और घर परिवार के साथ साथ सरकार के लिए भी भारी चिंताप्रद है।

संस्था के चेयरमैन अनन्त कुमार पोद्दार के अनुसार , कोरोना महामारी के संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए विश्व भर के देशों ने लॉक डाउन का लगातार सहारा लेना  शुरू किया तो सरकारी और निजी अर्थ व्यवस्था चरमरा गई।

इस कारण संक्रमण के चेन पुलिंग करने के लिए सरकार और स्वास्थ्य विभाग के कहने पर मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के उपाय आजमाए जा रहे हैं लेकिन लॉकबन्दी की तरह इसमें भी जनता की लापरवाही के कारण खास सफलता प्राप्त नहीं हो रहे हैं।

उन्होंने दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि संक्रमित इलाके को कोंटेन्मेंट ज़ोन के रूप में घोषित किए जाने के बाद वहां किये गए प्रतिबंध की घेराबंदी की भी जनता ने मनमानी तरीके से धज्जियां उड़ाई।

उदाहरण स्वरूप संस्था के चेयरमैन ने बेगूसराय के बलिया अनुमंडल मुख्यालय के कुछ मुहल्ले में कुछ समय पूर्व लगाये गए कोंटेन्मेंट प्रतिबंध की उड़ायी गयी धज्जियां का ज़िक्र किया और कहा कि वैसे प्रतिबंधों के कारण जनता दिग्भ्रमित हुई थी।

इसलिए संस्था के चेयरमैन अनन्त कुमार पोद्दार ने इस आतंकी त्रासदी को सीधे प्रकृति का प्रकोप मानते हुए जिंदगी के बचाव के लिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को ही मूल रूप से बेहतर साधन मान लिया है और जनता को सलाह देते हुए कहा है कि अपने जीवन की रक्षा के लिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का इस्तेमाल तब तक करें , जबतक कि कोरोना को नियंत्रित करने वाली वैक्सीन या दवाओं का ईजाद न हो जाता है।

साथ ही उन्होंने यह भी सलाह प्रसारित किया कि चिकित्सकों के परामर्श के अनुसार शुद्ध ताज़े भोजन का उपयोग करें और काढ़ा को इस संक्रमण का बेहतर उपचार समझ कर उपयोग में लायें।

वेलफेयर एसोसिएट क्लब बिहार के चेयरमैन अनन्त कुमार पोद्दार ने अपने प्रसारित सन्देश में चिंता जताया है कि कोरोना को लेकर सरकारी खजाने की अवाध गति से खर्चगी हो रही है , बैंकों की ऋण राशि अवरुद्ध हो गई है , कर्ज की तबाही मचने लगी है और जनता को इस कारण भविष्य में सामने आने वाली घोर समस्या की कोई चिंता ही नहीं है।

उन्होंने कहा कि अब जीवन शैली में बदलाव , जन जागरण को प्राथमिकता के तौर पर अपनाने की जरूरत है और प्रकृति से छेड़छाड़ की पुरानी परंपरा को भूलने में ही भलाई है।