कसबा-विधानसभा-से-कंचनदेवी-का-जनसंपर्कडॉ-तारा-स्वेता-आर्यासुयोग्य-उम्मीदवार-की-तलाश-में-किशनगंज-कांग्रेसतीन सदस्यीय केंद्रीय टीम का खुलासा,ईद-उल-अज्हा-हाफिज़-खुर्रम-मलिकराजकुमार-चौधरी-पूर्णियाजीतेन्द्र-यादव-और-उनकी-उपमहापौर-पत्नी-विभा-कुमारीहज-से-एक-भी-कोरोना-केस-नही-आया

पार्टी के प्रधान महासचिव बनाए गए अब्दुलबारी सिद्दकी

अब्दुल-बारी-सिद्दीकी
फोटो -अब्दुलबारी सिद्दीकी

फुलवारीशरीफ (प्रवेज आलम)

राजद में अब्दुलबारी सिद्दकी को नयी जिम्मेवारी सौंप दी है राजद ने उन्हें पार्टी का नया प्रधान महासचिव बनाया है. कमरे आलम के आरजेडी छोड़ने के बाद यह स्थाान खाली हो गया था। जिसपर एकबार फिर अल्पसंख्यक चेहरे को बैठाकर पार्टी को मजबुती देने की कोशिश की गयी है.

अब्दुलबारी सिद्दकी आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के काफी करीबी माने जाते है. राजनीतिक अनुभव की बात करे तो सिद्दीकी बिहार कैबिनेट में कई बड़े विभागों का कार्यभार संभाल चुके हैं. जैसे संसदीय कार्य, शिक्षा, कृषि, पीडब्ल्यूडी, आबकारी, अल्पसंख्यक कल्याण समेत कई महत्वपूर्ण विभाग पहले संभाल चुके हैं. राजनीतिक करियर की बात करे तो जेपी आंदोलन से इन्होंने पॉलिटिक्स में कदम रखा. 1977 में बिहार के बहेड़ा विधानसभा क्षेत्र से पहली बार विधायक बने.

साल 1992 में वे एमएलसी चुने गये थे और साल 1995 में एमएलए बने. इसके बाद लगातार 2000, 2005 और 2010 में विधानसभा का चुनाव जीत चुके हैं. वर्तमान में वे दरभंगा के अलीनगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं.बता दें कि आरजेडी के प्रधान महासचिव रहे कमरे आलम आरजेडी से इस्तीफा देकर एमएलसी संजय प्रसाद, दिलीप राय, राधाचरण सेठ, रणविजय सिंह के साथ जेडीयू में शामिल हो गए है. इसके बाद से आरजेडी का यह पद खाली हो गया था.