सोनबरसा एवं बाजपट्टी की छात्राओं ने इंटरमीडिएट की परीक्षा में लहराया परचम

सोनबरसा एवं बाजपट्टी की छात्राए
फोटो – सोनबरसा एवं बाजपट्टी की छात्राए, जिन्होंने इंटरमीडिएट में अच्छे अंक लाकर जिले का नाम रौशन किया है

सीतामढ़ी से कलीम अख्तर शफीक की रिपाेर्ट

सोनबरसा प्रखंड के एक मात्र रामदेव भगत बलदेव चौधरी बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का इंटरमीडिएट के परिणाम से  विद्यालय के शिक्षकों को खुशी है। इस विद्यालय से कला से 127 छात्रा ने परीक्षा दिया था, जिसमें 52 लड़कियों ने प्रथम श्रेणी से, 63 दितीय से सफलता पाई।

वहीं साइंस से 10 छातराओं मे 7 प्रथम श्रेणी एंव 2 छातरा ने दितीय श्रेणी से सफलता पाई। सांइस मे खुरशीद आलम की पुत्री इशरत खानम ने 392 अंक अर्जित की वहीं धरमेंदर साह की पुत्री मेनका कुमारी ने 384,एंव जामुन राय की पुत्री ने 345 अंर लाकर  विद्यालय मे तीसरा स्थान प्राप्त की।

कला मे रिजवान की पुत्री तबस्सुम ने 402, नंद किशोर भंडारी की पुत्री रूपा कुमारी 389, एंव गोविंद चौधरी की पुत्री मधु कुमारी ने 369 अंक लाकर विद्यालय में प्रथम, दितीय और तीसरी स्थान प्राप्त किया।

शिक्षा का अलख जगा रहे समाजिक कार्यकर्ता मो कमर अखतर का कहना है कि भुतही बालिका उच्च विद्यालय शिक्षक, शिक्षिकाओं एंव बालिकाओं के मेहनत का नतीजा है कि इंटरमीडिएट का रिजल्ट बेहतर अया है।

उच्च विद्यालय के परिणाम निश्चित तौर पर अच्छा है हमें इस उपलब्धि को धयान मे ऱखते हुए भविष्य में और बेहतर करना है। उच्च विद्यालय परिसर बधाई के पात्र हैं।

बालिकाओं ने शिक्षा के छेतर मे बालकों से अच्छा कर रही हैं। वहीं ग्रामीण छेतर की बालिकांए अब शहरी छेतर की बालिकाओं से पीछे नहीं है।

भुतही निवासी कृष्णा कुमार एंव रंजना प्रसाद की पुत्री शिलपा कुमारी इंटरमीडिएट सांईस मे 419 नंबर से पास होकर समाज का नाम रौशन किया है। शिलपा प्रतिभा की धनी है।

10 वी की परीक्षा भी 94 प्रतिशत लाकर अपनी प्रतिभा का डंका बजा चुकी है। इसके इस सफलता से माता रंजना एंव पिता कृष्णा गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। कृष्णा ने कहा कि शिलपा जितना पढना चाहे, पढाउगां।

लड़का और लड़की में बिना अंतर हमने शिलपा को पढाया। एक लड़की के शिक्षित होने का मतलब पूरा परिवार शिक्षित होना है, इसलिए लड़की के शिक्षा का महत्व बढ़ जाता है। शिलपा एम के काँलेज, भुतही की छातरा है।

शिलपा ने तीन विषय भौतिक मे 92 , रसायन मे 80, बायोलॉजी मे 93 अंक प्राप्त की। वहीं शिलपा ने कहा कि मैं डाक्टर बन समाज सेवा करना चाहती हूं। भुतही मुखिया मनोज ने कहा कि समाज के हर बेटी को शिलपा से सीख लेते हुए, परिवार एंव समाज का नाम रौशन करना चाहिए।

वहीं जिला के बाजपट्टी प्रखंड के संडवारा गांव निवासी माे. शफीक की पुत्री नाज़रा खातून इंटरमीडिएट आर्ट्स में 358 नंबर से पास होकर अपने परिवार और समाज का नाम रौशन किया है।

नाज़रा खातून बाजपट्टी +2 श्री रधुनाथ प्रसाद नाेपाली हाई स्कूल की छात्रा है पिता माे. शफीक म. वि. संडवारा में पढ़ाते है नाज़रा खातून की माता बताती हैं कि नाज़रा शुरु से पढ़ने में तेज़ है यही वजह है कि नाज़रा मैट्रिक में भी अच्छे नंबर से पास हुई थी इस माैके पर नाना, मामा, माता पिता, भाई बहन सबने दुवायें पेश किया.