टिकट-की-खातिर-उठापटकसिमांचल-में-राजनेताओं-की-श्रृंखलाबद्ध-मौतराजकुमार-चौधरी-रघुवंश-बाबु-को-श्रधांजली-देते
पैदल मार्च

कन्हैया के आगमन को लेकर कमरुल बारी का गांव गांव हुआ दौरा

फोतो – गाओं गाओं का दौरा करते कमरुल बरी धमौलवी

नवादा से मोहम्मद सुल्तान अख्तर की रिपोर्ट।

नवादा जिला के अंतर्गत पकरीबरावां प्रखंड के गुलजार बाग में मौलाना आजाद ने सभा को संबोधित किया। और कमरुलबारी धमौलवी ने कन्हैया के आगमन को लेकर गांव गांव का दौड़ा किया। और लोगों को आगवत किया, कि कल पैदल यात्रा पर सब लोग शामिल हो, यह पैदल मार्च कन्हैया के आगमन को लेकर किया गया है। और संविधान में छेड़छाड़ के विरुद्ध किया गया है।

यह पैदल मार्च निकाला गया है। आपको बता दें गुलजार बाग में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन का 15 वां दिन है। और यह गुलजारबाग के धरना की वजह कर कन्हैया जी आ रहे हैं। और इसी तरह पकरी बरानवां प्रखंड में दूसरा अनिश्चितकालीन धरना स्थल धमौल में है। कि महिलाएं में काफी आक्रोश पाया जा रहा है। और वहां का धरना प्रदर्शन का आज 17 वॉ दिन है।

[ytplayer id=1695]

इसी तरह से दोनों जगह अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन चल रहा है। जगह-जगह मिलने के बाद कमरुलबारी धमौलवी कामरेड नेताओ, राजद नेताओं से मिलकर पैदल मार्च को काफी मजबूत बनाने पर ध्यान प्रकट किया। उन्होंने आशा किया है, कि लगभग पैदल मार्च में 25 से 30,हजार लोग, औरतें, बच्चे, युवा शामिल होंगे।

इसी तरह अफसोस करते हुए मौलाना आजाद ने कहा कि यह काला कानून लाने के बाद, और इतने प्रदर्शन होने के बाद, जिस तरह सरकार डटी हुई है। वह काबिले अफसोस है। देश से लेकर प्रदेश तक में, इसका विरोध हो रहा है।

मगर अपने एयबों पर पर्दा डालने के लिए, यह सरकार इतनी जल्दी पीछे नहीं होगी। और आगे फरमाया काला कानून हिंदुस्तान में दलित और मुसलमानों को भगाने के लिए, मोदी सरकार ने लाया है। यह काला कानून किसी भी कीमत पर चलने वाला नहीं, और राज्य आसाम में मोदी हुकूमत, एन आर सी के तहत करोड़ों रुपए का घोटाला कर रखा है।

एक रियासत में सिर्फ आसाम में, 1220 करोड़ रुपए खर्च हुए, अगर तमाम राज्य में एनआरसी कराया जाए।तो बहुत सारे रुपए खर्च होंगे। इसका आकलन लगाने पर पता चलता है। कि कितना बड़ा घोटाला की साजिश रची जा रही है। एनआरसी के तहत घोटाला की बड़ी साजिश रचने का काम मोदी सरकार कर रही है। इसीलिए पूरे देश में इसका विरोध हो रहा है। इस विरोध का एक हिस्सा बनने के लिए कन्हैया कुमार का आगमन 10 फरवरी, को होगा।

जिसके तहत आज पैदल मार्च धमौल से पकरी बरामा प्रखंड परिसर तक होगा। जिसमें धमौल, कैथा, आढा तुर्कबन, जमहारिया, गुलनी, तपसीपुर, के रास्ते तमाम लोग और तमाम गांव के लोग जुड़ेंगे।

कौवाकोल की तरफ से आने वाले कचना मोड़ में, मिलेंगे और पकरीबरावां प्रखंड तक जाएंगे, और वहां जाकर ज्ञापन प्रखंड पदाधिकारी के जरिए, और अंचलाधिकारी के जरिए, महामहिम राष्ट्रपति तक पहुंचाया जाएगा। इस तरह कन्हैया कुमार के प्रोग्राम में ताजगी पैदा की जाएगी। इस पैदल मार्च की तैयारी में कमरुल बारी धमौल वी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ अध्यक्ष नवादा ने बहुत से गांव का दौरा किया। और वहां के लोगों को इसकी हाजिरी देने के लिए राजी किया।

इस मौके पर साथ में अंजुम और शहनवाज साथ साथ रहे। और उधर बरामा के स्टेज पर सभा संबोधित करते हुए मौलाना आजाद ने भी पुरजोर तरीके से लोगों को सहयोग देने की बात कही। स्टेज पर मौजूद शादाब, तारा खातून, मौलाना नौशाद आदिल, हाफिज सद्दाम, हाफिज फिरदोस, राशिद मलिक, अब्दुल्लाह, अखलाकुर रहमान, मसरूरुल बारी धमौल वी, सनाउल्लाह साहिब, सद्दाम, आदि थे। इस मौके पर गुलजारबाग पकरी बरामा, और समीर बाग धमौल में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं, बच्चे, युवा, पुरुष मौजूद थे।