नवादा में एक दो मुंहा सांप पकड़ा गया जिसकी बाज़ार में कीमत 2 करोड़ रु , सांप तस्करी के धंधे में करोडो के सांप के साथ 6 सपेरा गिरफ्तार, नवादा पुलिस अचरज में ।

0
cyz
SULTAN-AKHTAR

नवादा से मोहम्मद सुलतान अख्तर की रिपोर्ट।

नवादा जिले में सांप के तस्करी करने का पर्दा फाश हुआ। उग्रवाद प्रभावित सिरदला थाना इलाके से 6  सपेरों को हिरासत में लिया गया है ।  इन सपेरों  पर आरोप है कि ये लोग सांप को पकड़कर इसकी तस्करी करते हैं. नवादा से सैंड बोआ की तस्करी धड़ल्ले से हो रही है। आम बोल चाल में इसे दोमुंहा सांप भी कहते हैं।  दुर्लभ प्रजाति के सांपों की तस्करी करने वाले एक बड़े गिरोह पर पुलिस ने शिकंजा कसते हुए। हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। 

पुलिस को यह सूचना मिली थी कि 2 करोड़ में बेचने की बात सपेरों के बीच चल रही थी ।  सूचना के आधार पर जब पुलिस ने छापेमारी की तो वहां से लाल रंग का दो मुंहा सांप बरामद किया गया है।  बताया जाता है कि इस लाल रंग का सांप (दो मुंहा सांप) की कीमत 2 करोड़ बताई जा रही है।  पुलिस ने जब सपेरों पर सख्ती किया तो यह बात सामने आई की इन सांपों को मुंबई के किसी सपेरा तक पहुंचाना था. लेकिन सांप का सौदा करने आए गिरोह का सरगना भाग निकला । 

पुलिस सूत्रों के मुताबिक सिरदला से विशाल संपेरा, गया से तीन तथा रजौली के भौर गांव से एक तथा सिरदला के पचम्बा गांव से एक को गिरफ्तार किया गया है। वहीं नवादा वाला सांप सपेरा भागने में कामयाब हो गया. विशाल नामक संपेरे के पास से एक दो मुहां सांप, एक अजगर, एक कोबरा समेत आधा दर्जन दूसरे प्रजातियों के सांप भी बरामद किए गए है । 

सूत्रों के अनुसार तस्करों की टीम सांप को नेपाल के रास्ते चीन भेज ती है। चीन में स्थानीय पद्धति से इस सांप से कैंसररोधी दवा और शक्तिवर्धक दवाएं बनाई जाती हैं, इसी कारण यह इतना कीमती है। रजौली सिरदला के जंगली इलाकों में कई प्रकार के प्रतिबंधित और विलुप्त प्राय जीव पाए जाते हैं। पुलिस को सूचना मिली थी कि तस्करों ने भारतीय वन्य जीव संरक्षण की अनुसूची में शामिल प्रतिबंधित दोमुंहा सांप सहित अन्य सांप को तस्करी के लिए पकड़ रखा है। तस्करों के गिरोह में कई और लोगों के नाम पता चले हैं। जल्द ही उन पर भी कार्रवाई संभव है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.