वरिष्ठ पत्रकार एस ए शाद का निधन डॉ एम ए इब्राहिमी ने शोक संवेदना व्यक्त किया

वरिष्ठ पत्रकार एस ए शाद के असामयिक निधन की खबर सुनकर पूर्व नौकरशाह डॉ एम ए इब्राहिमी काफी मर्माहत है। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता के क्षेत्र में उनसे अभी काफी अपेक्षाएं और संभावनाएं थी ।

वरिष्ठ-पत्रकार-एस-ए-शाद-नहीं-रहें
फोटो – बिहार के वरिष्ठ पत्रकार एस ए शाद का बुधवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया

बिहार के वरिष्ठ पत्रकार एस ए शाद का बुधवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। दैनिक जागरण से जुड़े रहे एसए शाद पूर्व में अंग्रेजी दैनिक टाइम्स ऑफ इंडिया से जुड़े हुए थे। बाद में उन्होंने हिन्दी की पत्रकारिता करने का निर्णय किया और दैनिक जागरण पटना के साथ जुड़े। मूल रूप से भागलपुर निवासी शाद टेक्साइल इंजीनियर थे।

इंजीनियरिंग में बेहतर प्रदर्शन के लिए उन्हें गोल्ड मेडल भी नवाजा गया था। बाद के दिनों में उन्होंने इंजीनियरिंग के पेशे को छोड़ पत्रकारिता से जुड़ने का फैसला किया। पत्रकारिता की सेवा करते हुए एसए शाद एमबीए की पढ़ाई भी कर रहे थे।

हाल ही में उन्होंने ललित नारायण मिश्रा संस्थान ने एमबीए की पढ़ाई पूरी की थी। इस दौरान उन्हें कैंसर जैसी बीमारी ने दबोच लिया। पहले दिल्ली और बाद में महावीर कैंसर संस्थान में उनका इलाज हुआ। जहां बुधवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। उनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक घर भागलपुर में गुरुवार को होगा।

वहीं बिहार के जाने माने पूर्व वरिष्ट प्रशासनिक अधिकारी डॉ एम ए इब्राहिमी ने भी उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। 

उन्होंने कहा है कि शाद से पहली मुलाक़ात उस वक़्त हुई थी जब मै भागलपुर में कमिश्नर के पद पर पदस्थापित था शाद ने अपनी लेखनी के बदौलत पत्रकारिता जगत में अपनी अलग पहचान बनाई थी। उनका निधन बिहार के मीडिया के लिए अपूर्णिय क्षति है। श्री शाद का कैंसर जैसे असाध्य रोग से असामयिक निधन दुखद है, अपनी कर्मठता से इन्होंने पत्रकारिता जगत में एक विशेष पहचान बनाई थी जिसकी क्षतिपूर्ति अपूरणीय है।

अल्लाह से दुआ करता हूँ कि मरहूम शाद साहेब को जन्नतुल फिरदौस में आला मुकाम मिले और इनके परिवार को इस दुःख की बेला में सब्र जमील अता करें आमीन।