बिहार मुख्य खबर राजनीती राज्य राष्ट्रिय

मदरसा के शिक्षक को साथ महीना से वेतन नहीं मिलने के कारण भुखमरी के शिकार

मदरसा रहमानिया मेहसौल सीतामढ़ी
फोटो – मदरसा रहमानिया मेहसौल सीतामढ़ी

सीतामढ़ी से इश्तेयाक आलम की रिपोर्ट

मदरसा शिक्षक को सात महीना से वेतन नहीं मिलने के कारण भुखमरी के शिकार हो रहे हैं । मदरसा रहमानिया मेहसौल के अध्यक्ष मो अरमान अली ने बताया की 1128, 205 व 609 कोटि के मदरसा शिक्षको का वेतन सितंबर 2019 से ही नहीं मिल रहा है।

सरकार द्वारा एलॉटमेंट जारी नहीं करने के कारण मदरसा शिक्षको को  सितंबर से अब तक वेतन का भुगतान नहीं हो रहा है। जिस कारण मदरसा के शिक्षक भुखमरी के शिकार हो रहे हैं।

कोरोना की मार ने अलग से परेशान कर रखा है। सरकार ने इस महामारी से निपटने के लिए 31 मार्च तक लाक डाउन कर दिया है। मुख्यमंत्री द्वारा राहत पैकेज की घोषणा की गई। लाक डाउन के कारण मूल्य वृद्धि हो गई है जो प्याज 1600 सौ रुपये क्विंटल था अब वह 2500 सौ रूपए हो चुका है।

मो अरमान अली ने कहा कि मदरसा शिक्षक उधार लेकर घर को चला रहे थे, उनके सामने भुखमरी की स्थिति बन गई है। लाक डाउन के कारण दुकानदार को नगद बेचने से फुरसत नहीं है। ऐसे मे उधार देकर वह कोई रिस्क उठाना नहीं चाहते।

मदरसा शिक्षकों को बच्चों और परिवार चलाना मुश्किल हो रहा है। मुस्लिम सिटीजंस फार एमपावरमेंट के अध्यक्ष मो कमर अखतर ने बिहार सरकार से अपील की है कि ऐसे संकट के घड़ी में  शिक्षकों के वेतन मद मे राशि आंवटित करते हुए शीघ्र भुगतान करे ताकि मदरसा शिक्षकों के परिवार का घर चल सके।

 133 total views,  1 views today