बिहार मुख्य खबर राजनीती राज्य राष्ट्रिय

सीमांचल लॉक डाउन के दूसरे दिन, सावित हो गया कि लातों के भूत , बातों से नहीं मानते !

  • पुलिस की सख्ती और छड़ी ने किये जादू : पल भर में सीमांचल हुआ लॉक डाउन ।
  • सीमांचल के बुद्धिजीवियों ने इस बाबत सम्पूर्ण सीमांचल की पुलिस की प्रशंसा की।
  • पत्रकारों के लिए प्रशासनिक गाइड लाइन भी हुए जारी ।
  • सीमांचल से अशोक/विशाल की रिपोर्ट ।
Second day of lockdown in Simaanchal
Photo – लॉक डाउन के दूसरे दिन

कोरोना से एहतियात के लिए जारी लॉक डाउन के दूसरे दिन सीमांचल के चारों जिले के प्रशासन और पुलिस के सख्त तेबर स्थापित होते ही सड़कों की पटल से टेम्पू गायब हो गए , छोटे कमर्शियल वाहनों पर ब्रेक लगे और हाट बाजार करने के नाम पर सभी रुटों की सड़कों के चौक चौराहों पर जुटने वाली पब्लिक भीड़ पर भी बिराम लग गए।

प्रशासन की ऐसी सख्ती को सीमांचल के जिलों की पुलिस की सक्रियता से अमलीजामा पहनाया गया ।

पुलिस ने सुवह से ही बीते दिन की भांति सरकारी आदेश की धज्जियां उड़ाने चौक चौराहे पर जुटी भीड़ और टेम्पो की कतार पर जब लाठियां बरसाई तो यह कहाबत चरितार्थ हो गया कि “लातों के भूत , बातों से नहीं मानते हैं” ।

Second day of lockdown in Simaanchal

लेकिन , दूसरी ओर बाजार की बन्द दुकानों और पसरे सन्नाटों की आड़ में दारूबाजों , गंजेड़ीयों , की चलती आ गई।

पुर्णिया , अररिया और किशनगंज में दारूबाजों ने ऐसे फ़्री माहौल का लाभ जमकर उठाना शुरू कर दिया है तो  दूसरी ओर कई मुहल्ले में मकान निर्माण के काम में लगे राज मिस्त्रियों की भीड़ की भी चर्चा सुनने को मिले ।

Second day of lockdown in Simaanchal

पत्रकारों के लिए प्रशासनिक गाइड लाइन भी हुए जारी।

इस बीच सीमांचल के सभी जिले में जिला प्रशासन अथवा पत्रकार संघ के द्वारा कोरोना वायरस के संदर्भ में पत्रकारों के लिए गाईड लाइन जारी किए गए हैं और उसके जरिए पत्रकारों के जीवन की सुरक्षा को भी जरूरी बताया गया है

 378 total views,  6 views today