बिहार मुख्य खबर राजनीती राज्य राष्ट्रिय

नवादा जिला के पकरीबरावां में ऐतिहासिक भाषण कन्हैया कुमार का।

फोटो – डॉ कन्हैया एवं शकील अहमद खान, कड़वा के कांग्रेस विधयक पकरीबरावां के मंच पर

नवादा से मोहम्मद सुल्तान अख्तर की रिपोर्ट।

नवादा जिला के अंतर्गत पकरी बरामा प्रखंड के हाई स्कूल मैदान में एक विशाल सभा कन्हैया कुमार का हुआ, उस सभा में संचालक कर रहे, कमरुल बारी धमौलवी राजद अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ अध्यक्ष नवादा, और इस सभा की अध्यक्षता कर रहे, मौलाना ने कन्हैया कुमार के आने पर सभो का अभिवादन किया।

कन्हैया कुमार के स्टेज पर आने से पहले बहुत सारे प्रवक्ताओं ने अपनी अपनी बातें रखी, अजीत मेहता, नंदू कुमार यादव, सुजीत कुमार, मन्नू मंडल,समेत दर्जनों प्रवक्ताओं ने बात रखी, और नैय्यर वसीम, अंसारी महापंचायत के अध्यक्ष,भी बहुत ही कीमती बातें रखी, सभो ने कन्हैया कुमार के आने से पहले ही बात रखी। डॉक्टर कन्हैया कुमार के आगमन पर कचना मोड़ तक 20 मोटरसाइकिल से युवाओं ने स्वागत किया।

वहां से रिसीव कर के मैदान परिसर तक लाया। मैदान परिसर में आते ही, सभा लग गई। लोगों का एक बड़ा भीड़ तंत्र जमा हो गया। उनके आने के बाद स्टेज पर अफसर नवाब उर्फ छोटा लालू, उनके मान-सम्मान में, और एनआरसी के विरोध में में अपनी शायर व शायरी अंदाज़ में बातें रखी।

उसके बाद डॉक्टर शकील अहमद खान कदवा के विधायक, ने अपनी बातें मुख्तसर मगर निचोड़ बातें की। और फरमाया कि किसी भी हाल में यह काला कानून भारत देश में नहीं चलेगा। उसके बाद विस्तार रूप से कन्हैया कुमार का भाषण हुआ, लोगों ने बहुत ही धर्य पूर्वक तरीके से भाषण को सुना, और उन्होंने कहा एनआरपी ही असल है,उसके बाद उसी से निकाला जाएगा, एनआरसी और सीएए,असल एनपीआर अंडा समान है।

उससे निकलेगा चुजा,और चूजा ही सीएए, एनआरसी, है। उन्होंने कहा कि निजी करण के संबंध में विस्तार रूप से बात की। और कहा कि हर एक चीज निजी करण होता जा रहा है, लेकिन सरकार सरकारी क्यों रहेगा? सरकार भी निजी करण ही जाए।

उन्होंने कहा कि डॉक्टर, पुलिस, मास्टर,डाकिया, यह सभी को रिटायरमेंट नहीं मिलेगा, लेकिन सरकार में जो एक बार प्रधानमंत्री बन गया, मुख्यमंत्री बन गया, उसे रिटायरमेंट मिलेगा, बताइए यह कहां का इंसाफ है। एक स्कूल में दो तरह की टीचर यह कहां का इंसाफ है। समान काम समान वेतन नहीं है। एक को मिलता 65000 रुपया मिलता है।

उसी में कुछ शिक्षक हैं।जिनको दस हजार रूपए मिलता है। इन सभी बातों पर ध्यान दिलाया। और कहा कि 27 तारीख को पटना के गांधी मैदान में, एक बड़ी सभा के साथ नितेश कुमार को, एनपीआर के लिए विस्तार रुप से बताया जाएगा।

कन्हैया कुमार का मंच पर स्वागत ढोल नगाड़े के साथ उनका स्वागत किया गया। और ढोल नगाड़े में एनआरसी के विरोध बेहतरीन गीत गाई गई। इसी तरह से सभा खत्म होने पर ऐसे ही जा रहे थे। युवाओं ने कहा कि बिना नारा के जाने नहीं देंगे,तब उन्होंने 2 मिनट का नारा लगाया। आजादी, आजादी, बेरोजगारी से आजादी, मनुवाद से आजादी, और उसी के साथ सभा समाप्त हुआ।

नवादा शहर के बुंदेला बाद धरना स्थल पर चले गए। इस प्रोग्राम को कामयाब बनाने में पकरी बरामा निवासी हिंदू, मुस्लिम सभी जाति के लोगों का सहयोग मिला,और इंकलाबी ग्रुप के तमाम नौजवान ने भरपूर मदद किया। इस मौके पर हजारों हजार की तादाद में मर्द, औरत सभी जाति बिरादरी की औरतें, शामिल हुए।

और प्रशासन की व्यवस्था में मुकेश कुमार साहा, और उनके सहयोगी, थाना अध्यक्ष मोहम्मद सरफराज इमाम, और उनके सहयोगियों ने खूब साथ दिया,i इसी के साथ सभा का समापन हुआ।