बिहार मुख्य खबर राजनीती राज्य राष्ट्रिय

सीतामढ़ी में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में इमारते शरिया के लोगों ने बनाया मानव श्रृंखला

मदरसा रहमानिया मेहसौल से शंकर चौक तक लोग 2 बजे से 3 बजे तक सड़क किनारे कतारबद्ध खड़े होकर CAA, NRC और NPR का विरोध जताया।

फोटो – मदरसा रहमानिया मेहसौल से शंकर चौक तक लोग सड़क किनारे कतारबद्ध खड़े होकर CAA, NRC और NPR का विरोध जताया।

सीतामढ़ी से कलीम अख्तर शफीक का रिपोर्ट

नागरिकता संशोधन कानुन, एनआरसी,एनपीआर के बिरोध में भाकपा माले के आह्वाहन पर इमारते शरिया के समर्थन पर मानव श्रृंखला का आयोजन सीतामढ़ी में ऐतिहासिक रहा। काफी संख्या मे महिला एंव पुरुष मानव श्रृंखला को सफल बनाया।

मदरसा रहमानिया मेहसौल से शंकर चौक अौर मेहसौल चौक से राजाेपट्टी हाेते हुए आई .बी तक लोग दाेपहर 2 बजे से 3 बजे तक सड़क किनारे कतारबद्ध खड़े होकर सी ए ए, एन आर सी, एन पी आर का विरोध जताया। इस मानव श्रृंखला को समर्थन देते हुआ इमारत ए शरिया एवं अन्य मुस्लिम संगठन ने इस मानव श्रृंखला में बड़ी तादाद में भाग लिया।

वहीं जिला के बाजपट्टी प्रखंड के हसनपुर बरहरवा, मुरौल, कसैयापट्टी में भी मानव श्रृंखला बनाया गया साथ ही बाजपट्टी के फुलवरिया गांव में स्थित मदरसा फैज-ए-आम ,मदरसा मिस्बाहूल- उलूम हरपुरवा समेत दर्जनों गांवों में स्थित मदरसों के शिक्षकों के साथ साथ बच्चों ने भी मानव श्रृंखला बनाया।

हाजी मो हशमत हुसैन ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ यह मानव श्रृंखला बनाया गया है।

जब तक सरकार वापस नही लेती है, शांतिपूर्ण ढंग से बिरोध प्रदर्शन होता रहेगा। कहा कि यह भारत के कानून संविधान के अनुरूप नहीं है, यह काला कानून को सरकार को वापस लेना होगा।

यह संशोधन संविधान के प्रस्तावना के अनुरूप नही है। इस मौके पर मदरसा रहमानिया मेहसौल के अध्यक्ष मो अरमान अली, अब्दुल्लाह रहमानी, हाजी मो हशमत हुसैन, मो जुनैद, मो कलीमुल्ला रहमानी, मौलाना माेतिउर रहमान कासमी, मौलाना सदरे आलम नाेमानी मुर्तुजा, फैजुल हसन, अकरम हुसैन, मो शब्बीर अहमद, मो बशीर अहमद, मो जफर हाशिम, मो ज़मीर, मो अशरफ़ , गुलाम रसूल, मो मुराद, सिफ्फत हबीबी, मो गुलाब, मो अलीम आरजू, मो जन्नत हुसैन,मो अफरोज आलम, मो ज़फ़र कमाल अल्वी, मो दाऊद, आरजू कुरैशी, अब्दुल कय्यूम , अबरार नाेमानी, समेत हजारों लोगों शामिल हुए।

 176 total views,  3 views today