किशनगंज में लाखों की भीड़ के बीच एनआरसी के खिलाफ ओबैसी की दहाड़

रुईधासा मैदान में रविवार को एआईएमआईएम द्वारा सीएए व एनआरसी के खिलाफ संविधान बचाओ जनसभा आयोजित की गई, जिसमें…

AIMIM के राष्ट्रीय सुप्रीमो बैरिस्टर असद उद्दीन ओवैसी ने आज सीमांचल के अतिसंवेदनशील राजनीतिक क्षेत्र किशनगंज की सरजमीं से मुल्क के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चेताया कि आनेवाले इतिहास में देश की जनता आपको कभी भी मांफ नहीं करेगी। आप दोनों ने संविधान का मजाक उड़ाते हुए जो काला कानून बनाया , उसने भारतीय संविधान को खतरे में ला दिया हैऔर भारत में एक और विभाजन की नापाक तैयारी की गई है।

फोटो – किशनगंज में लाखों की भीड़ के बीच CAA, NRC, NPA के खिलाफ असदुद्ओदीनओवैसी का संबोधन

सीमांचल से (अशोक/विशाल) की रिपोर्ट

AIMIM प्रमुख असद उद्दीन ओवासी की प्रमुख बाते

  • 2020 के विहार विधानसभा चुनाव के बाद एनआरसी लागू करने की फिराक में नीतीश और अमित शाह : ओवैसी
  • एनआरपी व एनआरसी में कोई फर्क नहीं, देश को गुमराह कर रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : ओवैसी
  • मोदी को विना नाम लिए बताया जुमलेबाज गैंग का रंगा बिल्ला : ओवैसी
  • कांग्रेस -राजद को भी दी नसीहत, कहा मोदी -नीतीश से नहीं डरता न लालू -राहुल से : ओवैसी
  • कहा :बच्चा -बच्चा कुर्बान कर देंगे लेकिन भाजपाई सरकार का मंसूबा पूरा नहीं होने देंगे : ओवैसी

उन्होंने कहा कि NPR ही NRC होगा और नीतीश कुमार बिहार के लोगों को बरगलाने का काम करते हुए कहते फिर रहे हैं कि वह बिहार में NRC लागू नहीं होने देंगे। उन्होंने भीड़ से पूछा कि आप नीतीश कुमार को इस हालत में पसन्द करेंगे तो भीड़ ने नकार दिया।

उन्होंने अपने भाषण में NRC को लेकर जितनी खरी खोटी भाजपा और नीतीश कुमार को सुनाई ,उतनी ही खरी खोटी कांग्रेस और राजद के प्रति भी सुनायी। उन्होंने आश्चर्य प्रकट किया कि उनकी AIMIM की NRC विरोधी अभियान  में कांग्रेस व RJD शिरकत करने से कतराती है। उन्होंने कहा कि वह सिर्फ आसमान और जमीन बनाने वाले से डरते हैं न कि मोदी ,नीतीश से। वह तो लालू ,राहुल की भी परवाह नहीं करते हैं।

लेकिन उन्होंने किशनगंज की सरजमीं से केंद्रीय सरकार से अपील की कि वह जनता की भलाई के मद्देनजर अपने काले कानून को अविलंब रिजेक्ट करें। क्यों कि यह मसला अकेले मुसलमान और गरीब दलितों , आदिवासियों  , ईसाइयों का नहीं है, बल्कि ये देशभर की जनता का मसला है ।

AIMIM नेता सांसद ओवैसी ने कहा कि संविधान के खिलाफ बनाये गए काले कानून से जिन्ना की रूह को सुकून देने का काम किया गया है जो भारत में एक और विभाजन की लकीर खींचने वाला है।

उन्होंने आश्चर्य किया कि भाजपा नेता कानून मंत्री रविशंकर की तरह ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी आम जनता को कन्फ्यूज करनेवाले बयानबाजी लगातार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि न जाने नीतीश कुमार के सीने में कैसा दिल है जो उन्होंने देश की जनता को बर्बाद करने के लिए काले कानून का राज्यसभा में समर्थन किया। AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने किशनगंज की सरजमीं से मेरठ के एसपी को भी आड़े हाथ लिया और उन्हें मेरठ के इतिहास की जानकारी लेने के लिए कहा। उन्होंने एसपी से सवाल किया कि आपको मुसलमान पर शक क्यों है।

इस अवसर पर महाराष्ट्र की पुलिस सेवा से त्यागपत्र देने वाले आईपीएस अफसर अब्दुर्रहमान , AIMIM के बिहार प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व विधायक अख्तरूल ईमान , AIMIM के किशनगंज विधायक कमरूल होदा ने कहा कि 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव के बाद बिहार में एनआरसी लागू किये जायेंगे। नोटबन्दी के बाद देश में यह दूसरा हाहाकार मचाया जा रहा है। इन नेताओं ने कहा कि “तुम फासीवाद मुर्दाबाद-हम जनता जिंदाबाद” ।

इन नेताओं ने कहा कि यह लड़ाई देर तक और लम्बी दूरी तक लड़नी है इसलिए लड़ाई में डटे रहना है।

इन नेताओं ने कहा कि नीतीश कुमार कहते थे कि मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन भाजपा के साथ नहीं जाएंगे तो सुन लीजिए नीतीश जी, आपको हमारे देश की मिट्टी कबूल ही नहीं करेगी तो आप क्या मिट्टी में मिलेंगे।

इन नेताओं के बारे में कहा कि देश में जुमलेबाज गैंग के रंगा बिल्ला से जनता को डरने की जरूरत नहीं है।

पूर्व घोषणा के बावजूद जनसभा में शामिल नहीं हुए पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी

किशनगंज के रुईधासा मैदान में एआईएमआईएम की जनसभा में उमड़ी लोगों की भीड़।

मांझी का नहीं आना राजद व कांग्रेस का षड्यंत्र : ईमान

AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान ने कहा कि मोदी के शासन में गुजरात में अकलीयतों के साथ ज्यादती की गई। दिल्ली की गद्दी संभालते ही वे गरीबों का हक छीनने में लग गए। अब संविधान की हत्या कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश की सरहद बचाने के लिए गर्दन कटाने की जज्बा रखने वाले मुसलमान व दलित संविधान बचाने के लिए सौ बार बलिदान देंगे।

हम पार्टी के सुप्रीमो जीतन राम मांझी के नहीं आने के पीछे उन्होंने कांग्रेस व राजद का षड्यंत्र बताया। कहा मांझी के आने का नाम सुनते ही कांग्रेस व राजद के पेट मे दर्द होने लगा। उन्होंने कहा कि कानून वापस होने तक लड़ाई जारी रहेगी।

रैली को लेकर अलर्ट रहा जिले का पुलिस प्रशासन

किशनगंज| ओवैसी की सभा को लेकर प्रशासन अलर्ट था। सुरक्षा व्यवस्था की देख-रेख एसडीएम शाहनवाज अहमद नियाजी व एसडीपीओ अजय कुमार झा कर रहे थे। रुईधासा मैदान सहित शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर मजिस्ट्रेट के साथ पर्याप्त पुलिस बल की तैनात था। एहतियातन अररिया, पूर्णिया व कटिहार से पुलिस बुलाई गई थी। शहर के 16 संवेदनशील जगहों पर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए थे। ट्रैफिक व्यवस्था की कमान इंस्पेक्टर मेराज हुसैन संभाले हुए थे। सभास्थल पर सीआई इरशाद आलम, थानाध्यक्ष राजेश तिवारी व अन्य थानाध्यक्ष तैनात थे। अस्पताल के डॉक्टर व अग्निशमन दस्ता भी अलर्ट था।

सभा की अध्यक्षता बहुजन क्रान्ति मोर्चा के पूर्णिया प्रमंडलीय संयोजक आलोक कुमार यादव ने की। सभा को कोचाधामन के प्रभावशाली नेता इज़हार असफी , इसहाक आलम सहित दर्जनों नेताओं ने संबोधित किया और इस मुहिम को जारी रखने की अपील की ।